Connect with us

अर्ली बुलेटिन

अकेले गौरी लंकेश नहीं मारी गई है. मारा गया है हमारा समाज. उसकी संवेदना.

क्राइम

अकेले गौरी लंकेश नहीं मारी गई है. मारा गया है हमारा समाज. उसकी संवेदना.

कल हमारे देश की निडर और साहसिक पत्रकार गौरी लंकेश … सच को दबाने की पूरी कोशिश की जा रही है कल हमारे देश की निडर और साहसिक पत्रकार गौरी लंकेश जी की गोली मार कर हत्या कर दी गई है, जी हाँ मै उन्ही गौरी लंकेश के बारे मे कह कर रही हू जो हमेशा निडररता के साथ कोई भी सत्ता हो व को कोई भी कट्टर पंथियों झूठ फरेब के ख़िलाफ़ हमेशा डट कर बिना डरे हमेशा लिखती रही और झूठ के ख़िलाफ़ लड़ती रही है l लेकिन मेरा मानना है कि वो अपनी अपनी मौत की जिम्मेदार ख़ुद है, क्योंकि उन्हे जब मालूम था कि हम एक ऐसे देश मे रह रहे हैं, जिसकी सरकार को सच सुनने की आदत नहीं जिस सरकार मे लोगो को सच सुनने की क्षमता नहीं और जो भी सच बोलने व लिखने की हिम्मत करता है या करेगा तो उसकी आवाज़ को दबा दी जाएगी

– मांगें दरकिनार, जबरन रिटायर कर रही प्रदेश सरकार जब उन्हे पता था कि आप अगर संघीयो के ख़िलाफ़ बोले या आप कट्टरता के ख़िलाफ़ बोले या सांप्रदायिकता के खिलाफ बोले तो जबाब सिर्फ़ उनकी बन्दूक और उनकी गोलियों से दिया जाता है, जब उन्हे मालूम था इस सरकार मे औरतों सच बोलने के लिए और अपने हक़ मांगने की इजाजत नहीं है तो उन्हे सच बोलने की क्या जरूरत थी क्यो की क्या आपको भी ऐसा ही लगता है l की अपनी मौत की जिम्मेदार वो ख़ुद है अगर हां तो आपकी मानसिकता और सोच बदलने की जरूरत है l जो लोग उनके घर में घुस कर उनको गोलियों से भून कर चले जाते हैं

वो क्या साबित करना चाहते हैं क्या पैगाम देना चाहते हैं कि देश मे जो भी हमारे खिलाफ़ खड़ा होगा या बोलने की कोशिश करेगा तो वह उसकी आवाज़ ऐसे ही दबा देंगे, चाहे वो सच बोलने वाले # नजीब का गायब होना या #नरेंद्र दल बोलकर हो या# गोविंद करब सेना और कल #गौरी लंकेश कितनो की आवाज़ को दबाएंगे साहब और जिन लोगो ने #गौरी लंकेश को मारा है उन्हे बस इतना ही कहना चाहती हूं, जा कर देख लीजिए इतिहास के पन्नो को उसमे भी आपको सिर्फ़ यही दिखेगा की सत्य की हमेशा जीत हुई है और मुझे यकीन है आज और आगे भी की सच्चाई कभी नहीं हारती या मरती है, वो सदा दिलो मे एक चिंगारी का काम करती है, क्योकि अब भी इस देश मे सच बोलने वाले और झूठ फरेब के विरोध लिए उसके ख़िलाफ़ कई ऐसे देश भक्त हैं, आप कितने लोगों की आवाज़ दबा पाएंगे, तो सुनिए ये वो लोग नहीं शायद सत्ता का नशा बोल रहा है,लेकिन आज हमे बदलने की जरूरत है पता है जब# रवीश कुमार# कन्हैया कुमार और #गौरी लंकेश जी जैसे लोग सच है तो लोग तालियाँ बजाते हैं, अब जागने की जरूरत है और इन लोगो के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने की जरूरत है, अगर गौरी लंकेश और नजीब, नरेंद्र दल बोलकर जैसे लोग सच लिखना बंद कर दिए होते या तो शायद वो हमारे बीच जिंदा होते, हम यू ही डरते रहे तो ये कानून को ना मानने वाले हत्यारे और कुछ एक सत्ता के नशे मे चूर हत्यारों का और इन सरकार को बताना होगा की 1गौरी लंकेश को मारोगे 1000 पैदा हो जाएंगे, साहब ये जनता है और सब जानती है,, वो दिन दूर नहीं जब अंग्रेजों से देश आज़ाद कराने के लिए जाने कितने शहीद पैदा हुए थे तो आज देश को अपने ही लोगो से बचाने के लिए न जाने कितने गौरी लंकेश, रवीश कुमार जैसे फिर उभर आएंगे!!! जय हिंद जय भारत प्रीति चौबे
राष्ट्रीय सचिव ” समाजवादी युवजन सभा ” फेसबुक आई. डी.
https://www.facebook.com/PreetiChobeySP

ट्विटर आई ड़ी
@preeti_chobey

वेबसाइट- www.preetichobey.com

विकिपीडिया-
https://en.m.wikipedia.org/wiki/Preeti_Chobey

Continue Reading
You may also like...

प्रीति चौबे, राष्ट्रीय सचिव समाजवादी युवजन सभा(समाजवादी पार्टी)

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

क्राइम से और भी ...

लाइक करें फ़ेसबुक पेज

पॉपुलर न्यूज़

वायरल न्यूज़

स्पॉन्सर्स साइट

ऊपर जाएँ

Pin It on Pinterest

Shares

शेयर करें

अपने मित्रों के साथ इस पोस्ट को शेयर करें!