Connect with us

अर्ली बुलेटिन

बस्ती भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों का हो रहा है विरोध!!

उत्तर प्रदेश

बस्ती भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों का हो रहा है विरोध!!

बस्ती. बीजेपी ने रविवार को विधानसभा चुनाव की दूसरी लिस्ट जारी की, जिसमें बस्ती सहित पूर्वांचल की अधिकतर सीटों के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की दी गई है। बस्ती की पांच विधानसभा सीट पर प्रत्याशियों के नाम का ऐलान होते ही अब विरोध भी शुरू हो गया है। अभी तक से भाजपा से टिकट की आस लगाये बैठे प्रत्येक विधानसभा सीट से औसत तीन से चार प्रत्याशियों को टिकट न मिलने से अब उनके समर्थकों में मायूसी छा गई है। ऐसे संभावित प्रत्यासियों और उनके समर्थको में स्थानीय सांसद को लेकर गुस्सा व अविश्वास की प्रतिक्रिया देखी जा रही है। सोशल मीडिया पर टिकट न पाने वाले उम्मीदवारों व उनके चाहने वालो ने खुलकर सांसद हरीष द्विवेदी के खिलाफ प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है।

टिकट न पाने वाले दावेदार तो खुलआम सोशल मीडिया पर सांसद हरीश द्विवेदी के खिलाफ पैसा लेकर टिकट वितरण कराने व जातीय आधार टिकट वितरण में दखलअंदाजी करने के आरोप भी लगा रहे हैं।हर्रया से ममता पांडे, बस्ती सदर सीट से टिकट मांग रहे अनूप खरे और रूधौली सीट से अपनी दावेदारी ठोक रहे जिप्पी शुक्ला ने जमकर अपनी भड़ास निकाली है।

इतना ही नहीं इन टिकटों की घोषणा होते ही असंतुष्ट उम्मीदवारों द्वारा यह कहा जा रहा है कि टिकट के बंटवारे में धनबल और प्रभावी नेताओं की पैरवी के आधार पर अपात्र, कमजोर और दूसरे दलों के कुछ चुनिंदा प्रत्याशियों को जिताने के मकसद से कुछ लोगों को टिकट दिला दिया गया। पांच सीटों वाले जिले की विधानसभा सीटों में से चार पर भाजपा ने दलबदलू प्रत्याशियों को अपने पुराने कार्यकर्ताओं व नेताओं को दरकिनार करते हुये टिकट दिया है।
जिले की रूधौली विधानसभा सीट पर वर्तमान विधायक और कांग्रेस पार्टी के नेता रहे संजय जायसवाल को हाल ही में पार्टी में शामिल कराकर टिकट दे दिया गया।
वहीं बस्ती सदर विधानसभा टिकट पाये दयाराम चौधरी सपा, बसपा व पीस पार्टी सहित विभिन्न पार्टियों से चुनाव लड़ने के बाद इस बार बीजेपी से टिकट पाने में सफल रहे हैं। इसी तरह महादेवा विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के हाल तक कार्यकर्ता रहे रवि सोनकर को कई वरिष्ठ भाजपा नेताओं को दरकिनार कर टिकट दे दिया गया।

जिले के लिये प्रतिष्ठित हर्रैया विधानसभा सीट पर पिछला चुनाव कांग्रेस पार्टी से लड़ चुके अजय सिंह को टिकट दिया गया।
जिन भारतीय जनता पार्टी के प्रत्यासियो को हर्रया से टिकेट नही मिला है वो आरोप यह भी कह रहे है की अजय सिंह ने सांसद बस्ती को लखनऊ मे ज़मीन व आवास देकर टिकेट पाया है!

सबसे दिलचस्प स्थिति जिले के कप्तानगंज विधानसभा सीट को लेकर है, जहां कई स्थानीय मजबूत प्रत्याशियों को नजरअंदाज कर नवागत और बाहरी प्रत्याशी सीपी शुक्ला को टिकट थमा दिया गया।
जिस तरह से सोशल मीडिया पर टिकट न पाये प्रत्याशियों की प्रतिक्रया देखने को मिल रही है उससे तो यही लगता है कि कहीं इनका गुस्सा पार्टी के चुनाव परिणामों पर भारी न पड़ जाये और भारतीय जनता पार्टी का यूपी में 14 साल के वनवास से उबरने का सपना कहीं सपना ही न रह जाये।
बस्ती में बीजेपी के उम्मीदवार
– हरैया -अजय सिंह
– महादेवा- रवि सोनकर
– कप्तानगंज- सीपी शुक्ला
– रुधौली- संजय जायसवाल
-बस्ती सदर- दयाराम चौधरी

Continue Reading
You may also like...

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उत्तर प्रदेश से और भी ...

लाइक करें फ़ेसबुक पेज

पॉपुलर न्यूज़

वायरल न्यूज़

स्पॉन्सर्स साइट

ऊपर जाएँ

Pin It on Pinterest

Shares

शेयर करें

अपने मित्रों के साथ इस पोस्ट को शेयर करें!