Connect with us

अर्ली बुलेटिन

सावधान! कहीं आपके बच्चे तो नहीं लाइफस्टाइल बीमारियों के शिकार ?

स्वास्थ्य

सावधान! कहीं आपके बच्चे तो नहीं लाइफस्टाइल बीमारियों के शिकार ?

टेलीविजन के आदि, जंक फूड और आउटडोर खेलों के प्रति रुचि खत्म होना बच्चों में लाइफस्टाइल बीमारियों के बढ़ने के सबसे बड़े कारण हैं। मेडिकल साइंस के मुताबिक आज के समय में लगभग 70 प्रतिशत बच्चे मोटापे, डायबिटिज, हार्ट और आंतों से जुड़ी बीमारियों के शिकार हैं। डॉक्टरों का कहना है कि इस स्थिति के लिए बच्चों का खानपान सबसे ज्यादा जिम्मेदार है।

दरअसल आजकल के बच्चे घर के खाने में कमियां निकाल कर कोशिश करते हैं कि किसी भी तरह उन्हें फास्ट फूड मिल जाए। ऐसी स्थिति में परिजनों का फर्ज बनता है कि वह बच्चों की ऐसी बातों का मानने के बजाय उन्हें घर के खाने और फास्ट फूड में फर्क बताएं।

दूषित खानपान के चलते आजकल छोटे-छोटे बच्चों को फूड पाइप, छोटी और बड़ी आंतें, लीवर, सांस नली, डायबिटीज, जरूरत से ज्यादा मोटा या पतला होना, आंखें कमजोर होना और पेट से जुड़ी गंभीर बीमारियों हो रही है। इसका कारण सिर्फ खाने में प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों का अभाव है।

आप बच्चों के माता पिता हैं, इसलिए आपका फर्ज बनता है कि आप ये ध्यान दें कि आपका बच्चा क्या और कब खा रहा है। सबसे जरूरी बात यह है कि आपका बच्चा समय से खाना खाता है या नहीं।

क्योंकि यदि आपका बच्चा समय से खाना नहीं खा रहा है तो यह भी बच्चों में लाइफस्टाइल बढ़ने का एक बड़ा कारण है। बच्चों को किसी ना किसी बहाने से पौष्टिक और प्रोटीन देते रहें। बचपन ही हमारे भविष्य के स्वास्थ्य की बुनियाद तय करती है। बच्चों को बचपन में ही इतना स्वस्थ बनाएं कि जिंदगी भर उन्हें कभी बीमारी का मुंह ना देखना पड़ें।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

स्वास्थ्य से और भी ...

लाइक करें फ़ेसबुक पेज

पॉपुलर न्यूज़

वायरल न्यूज़

स्पॉन्सर्स साइट

ऊपर जाएँ

Pin It on Pinterest

Shares

शेयर करें

अपने मित्रों के साथ इस पोस्ट को शेयर करें!